शेयर मार्केट में राकेश झुनझुनवाला की सफलता की कहानी | Rakesh jhunjhunwala success story in hindi

शेयर मार्केट में राकेश झुनझुनवाला की सफलता की कहानी | Rakesh jhunjhunwala success story in hindi



कौन है राकेश झुनझुनवाला


राकेश झुनझुनवाला जिन्हें बिग बुल या इंडियन वारेन बुफेट के नाम से भी जाना जाता है। राकेश एक भारतीय निवेशक ओर ट्रेडर्स हैं ओर इसी के साथ वह चार्टर्ड अकॉउंटेड भी हैं। वह जुलाई 1960 में मुंबई में पैदा हुए थे और उनके पिता एक इनकम टैक्स ऑफिसर थे राकेश बचपन में अपने पिता को उनके दोस्तों के साथ हमेशा स्टॉक मार्केट के बारे में बात करते हुए सुनते थे और यहीं से उनके मन में स्टॉक मार्केट को लेकर उत्सुकता पैदा होने लगी।


ऐसे ही बचपन में उन्होंने एक दिन अपने पिता से पूछा कि यह स्टॉक प्राइस हमेशा Up and Down क्यों होते रहते हैं? तब उनके पिता ने उनसे कहा जरा देखना आज के न्यूज़पेपर में gwalir rayon  के बारे में कुछ खबर छपा है या नहीं अगर छपा है तो कल gwalir rayon का प्राइस अप एंड डाउन होने वाला है। उनको यह चीज काफी इंटरेस्टिंग लगी और वस्तु स्टॉक प्राइस को लेकर और ज्यादा उत्सुक होने लगे। वह खुद अपने से ही स्टॉक मार्केट के बारे में सीखने लगे थे इसके कुछ दिन बाद राकेश अपने पिता को स्टॉक मार्केट में अपना करियर बनाने को कहने लगे थे।


राकेश झुनझुनवाला कॅरियर


यह सुनकर उनके पिता ने उनसे कहा देखो बेटा तुम जिंदगी में जो करना चाहते हो वही कर सकते हो। लेकिन सबसे पहले अपना ग्रेजुएशन पूरा करके पहले एक प्रोफेशनल डिग्री हासिल कर लो। अपने पिता की बात मानकर सिडेनहैम कॉलेज ऑफ कॉमर्स एंड इकोनॉमिक्स मुम्बई से 1985 में बी कॉम ओर चार्टर्ड अकाउंटेंट की डिग्री हासिल कर लेते हैं और अपना ग्रेजुएशन कंप्लीट कर लेते हैं और फिर ग्रेजुएशन कंप्लीट होने के बाद वह फिर से अपने पिता को स्टॉक मार्केट में अपना करियर शुरू करने की इच्छा के बारे में बताते हैं। उनके पिता उनसे कहते हैं बिल्कुल अब तुम अपनी मर्जी से अपना प्रोफेशनल करियर शुरू कर सकते हो लेकिन मुझसे या मेरे किसी दोस्त से पैसा उधार लेकर मत करना साथ में उनके पिता यह भी कहते हैं कि अगर तुम किसी वजह से स्टॉक मार्केट में अच्छा परफॉर्म नहीं कर पाते हो तो तुम चाहो तो अपनी पूरी जिंदगी मुंबई में हमारे इसी घर में बिता सकते हो और वैसे भी सीए की नौकरी करके तुम अपने घर का खर्चा चला सकते हो यह सेंस आफ सिक्योरिटी होने की वजह से राकेश को अपनी जिंदगी में आगे बढ़ने का अच्छा मौका मिल पाया।


1985 में सिर्फ ₹5000 लेकर राकेश झुनझुनवाला स्टॉक मार्केट में एंट्री लेटे हैं। 1986 में पहली बार वह 5,00,000 का एक बड़ा प्रॉफिट प्राप्त कर लेते हैं उस समय उन्होंने 43 प्रति शेयर के रूप में टाटा टी कंपनी के 5000 शेयर खरीदे थे और अगले 3 महीनों में उसी शेयर की प्राइस बढ़कर हो गयी थी 143 जिससे टाटा टी के शेयर बेचकर उन्हीने करीब 3 गुना मुनाफा कमाया था।


अब अगले कुछ सालों में राकेश कुछ बहुत ही बढ़िया स्टॉक से बहुत सारा मुनाफा कमाने में कामयाब हो जाते हैं। उनका अगला बड़ा इन्वेस्टमेंट था sesa goa जो कि वह सिर्फ 28 रुपये प्रति शेयर के रूप में खरीदा था और कुछ समय बाद उस शेयर का प्राइस बढ़कर बन गया था ₹65 जिसमें करीब 1 करोड रुपए इन्वेस्ट करके उन्होंने खरीदा ओर sesa goa के 400000 शेयर  बेचकर उन्होंने उस समय एक बहुत ही बड़ा मुनाफा था।


1986 - 1989 सिर्फ 3 साल में वह 20 से 25 लाख रुपए  का मुनाफा कमा चुके थे। इसके बाद सन् 2002 में राकेश झुनझुनवाला ₹3 प्रति शेयर के रूप में टाइटन कंपनी लिमिटेड के तीन करोड़ शेयर खरीद लेते हैं और अभी टाइटन कंपनी कॉपर शेयर वैल्यू बन चुका है 1100 रुपए ।


सन 2006 में वह 150 प्रति शेयर के रूप में लूपिन लिमिटेड कंपनी का शेयर खरीद लेते हैं और अभी उसका प्राइस बन चुका है ₹600 प्रति शेयर।


जिस तरह से राकेश जी को मीडिया में रिप्रेजेंट किया जाता है उससे लग सकता है कि राकेश झुनझुनवाला ग्रीक माइथॉलजी के किंग मिड्स के जैसा है। जो चीज वह छू लेते हैं वही सोना बन जाता है या फिर वह अपनी जिंदगी में हर डिसीजन सही लेते हैं इसलिए वह यहां तक पहुंच पाए। लेकिन उनका मानना है कि उन्होंने ज़िंदगी में जो गलत डिसीजन लिए थे वही सारे डिसीजन ने उन्हें इस मुकाम तक पहुंचने में मदद की है।


इकोनामिक क्राइसिस के कारण झुनझुनवाला के स्टॉक प्राइस 30% तक गिर गए थे। लेकिन 2012 में बुद्धिमानी से वह अपना पूरा नुकसान रिकवर करने में कामयाब रहे। उनका मानना है कि स्टॉक मार्केट सक्सेसफुल इन्वेस्टर बनने के लिए हमें अपनी गलतियों को समझना और उससे सीखना बहुत जरूरी है एक रिस्क टेकिंग इन्वेस्टर के नाम से राकेश जी काफी फेमस हैं।


4 नवंबर 2009 को राकेश जी ने 87 करोड रुपए इन्वेस्ट करके यस बैंक के 1.3 करोड़ शेयर खरीद लिए। वो भी ऐसे समय पर जब यस बैंक क्राइसिस से गुजर रहा था झुनझुनवाला का मानना है कि अगले 20 सालों में इंडियन स्टॉक मार्केट में भी एक Bull run देखने को मिलेगा। जैसे कि नाइट 1987 में wall street में देखने को मिला था।  forbes की अमीरों की लिस्ट के मुताबिक इंडिया में 48 रेंक पर ओर पूरी दुनिया मे 804 रैंक पर हैं वह बॉलीवुड की कई मूवी में को प्रोड्यूसर भी रह चुके हैं।


राकेश झुनझुनवाला का परिवार (Rakesh jhunjhunwala wife family)


राकेश झुनझुनवाला की वाइफ रेखा झुनझुनवाला हैं राकेश झुनझुनवाला की 3 बच्चे भी हैं जिनमें उनकी एक बेटी है निष्ठा और दो बेटे आर्यमन और आर्यवीर है। राकेश और उनकी पत्नी रेखा इन दोनों के नाम के पहले अक्षरों को मिलाकर उन्होंने अपने स्टॉक ट्रेडिंग फर्म का नाम रखना है Rare enterprises. राकेश फैमिली मैन की तरह ही जाने जाते हैं वह अपने माता-पिता भाई-बहन और अपने बच्चों से बहुत प्यार करते हैं वह अपने बच्चों की परवरिश इस तरह से करने में भरोसा रखते हैं ताकि उनको कभी यह ना लगे कि सिर्फ पैसे से ही जिंदगी में हर तरह की खुशी मिल सकती है।


राकेश झुनझुनवाला की नेटवर्थ | Rakesh jhunjhunwalal net worth rupees


शेयर बाजार में निवेश की बात करें तो राकेश झुनझुनवाला ने 1985 में इसमे कदम रखा था जब वह कॉलेज में थे। उस वक्त बीएसई सेंसेक्स 150 अंक के आस-पास था। उस समय राकेश झुनझुनवाला ने सिर्फ 5000 रुपए से शेयर बाजार में निवेश की शुरुआत की थी। फोर्ब्स की रिपोर्ट के अनुसार राकेश झुनझुनवाला की कुल आय इस समय 4.6 बिलियन डॉलर यानि 34,387 करोड़ रुपए है।

Post a Comment

0 Comments