मनु भाकर जीवन परिचय | Manu Bhaker Biography in hindi

मनु भाकर जीवन परिचय | Manu Bhaker Biography in hindi


मनु भाकर जीवन परिचय | Manu Bhaker Biography in hindi


मनु भाकर जीवन परिचय | Manu Bhaker Biography in hindi



मनु भाकर कौन हैं?


मनु भाकर एक भारतीय महिला निशानेबाज हैं मनु भाकर ने अंतरराष्ट्रीय शूटिंग स्पोर्ट्स फेडरेशन 2018 विश्व कप में स्वर्ण पदक जीते थे। मनु भाकर ने 2018 के कॉमनवेल्थ गेम्स में महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल प्रतिस्पर्धा में भारत को स्वर्ण पदक दिलाया था। जब इन्होंने कॉमनवेल्थ गेम्स में भाग लिया था तब इनकी उम्र सिर्फ 16 साल की थी। मनु ने जूनियर स्तर पर मिक्स्ड टीम के साथ एयर पिस्टल शूटिंग की प्रतियोगिता में हिस्सा लिया था। जिसमें मनु ने अपनी प्रतिभा का भरपूर प्रदर्शन दिखाया है।


मनु भाकर जीवन परिचय, जीवनी | Manu Bhaker Biography in hindi


मनु भाकर का जन्म हरियाणा के झज्जर के गोरिया गांव में 18 फरवरी 2002 में हुआ। उन्होंने यूनिवर्सल पब्लिक सीनियर सेकेंडरी स्कूल में पढ़ाई की मनु भाकर के पिता मर्चेंट नेवी में इंजीनियर है और माता टीचर हैं।


मनु भाकर के बारे में जानकारी | Manu Bhaker Biography in hindi


पूरा नाम - मनु भाकर


उपनाम - मनु


व्यव्साय - भारतीय स्पोर्ट्स शूटर


जन्मस्थान - गोरिया गांव, झज्जर, हरियाणा


जन्मदिन - 18 फरवरी 2002


धर्म - हिन्दू


जाती (cast) - जाट


कोच - जसपाल राणा


लंबाई (Height) - 5.5'


वजन (Weight) - 57


मनु भाकर शिक्षा (Education)


स्कूल - यूनिवर्सल पब्लिक सीनियर सेकेंडरी स्कूल, झज्जर, हरियाणा


शैक्षिक योग्यता - 12th पास


मनु भाकर परिवार (Family)


पिता - राम किशन भाकर


माता - सुमेधा


बहन - कोई नहीं


भाई - आखिल


वैवाहिक स्थिति - कुंवारी


मनु भाकर का करियर (Manu bhaker career)


मनु भाकर ने खेल की दुनिया में शुरुआत बॉक्सिंग से की थी उन्हें बचपन से ही खेल का बहुत शौक था और तब उनकी उम्र सिर्फ 6 साल थी। बचपन में बॉक्सिंग करते समय उनकी आंख में चोट लग गई जिसके बाद उनकी मां ने उन्हें बॉक्सिंग करने से मना कर दिया और उन्होंने बॉक्सिंग छोड़ दिया। लेकिन खेल के प्रति दीवानगी और जुनून के कारण उन्होंने खेल से नाता नहीं तोड़ा इसके बाद उन्होंने कबड्डी, क्रिकेट, कराटे, और स्केटिंग मैं भी अपना खेल दिखाया। देखते ही देखते हैं उनका इंटरेस्ट स्विमिंग में बड़ा और स्विमिंग से उनका इंटरेस्ट लॉन टेनिस खेलने में हुआ।


एक दिन मनु अपने पिता के साथ शूटिंग रेंज में घूम रही थी और उसी समय उनके पिता ने उनसे शूटिंग करने के लिए कहा और तभी मनु भाकर ने पहली बार में बहुत बेहतरीन शूट किया। और यहीं से मनु भाकर का शूटिंग में इंटरेस्ट बढ़ने लगा इसके बाद वह स्कूल में ही शूटिंग की ट्रेनिंग लेने लगी इसके बाद नेशनल कोच यशपाल राणा ने मनु भाकर को शूटिंग की ट्रेनिंग दी। मनु भाकर में 2016 में अपने स्कूल में शूटिंग की शुरुआत की मनु भाकर के गांव गोरिया से 25 किलोमीटर दूर स्थित सीनियर सेकेंडरी स्कूल में ही केवल शूटिंग रेंज है। जहां पर उन्हें 5 घंटे डेली ट्रेनिंग दी जाती है। इसी बात से आप यह अंदाजा लगा सकते हैं कि मनु भाकर ने इतने कम समय में कितनी मेहनत की है और आज वह नेशनल चैंपियन है।


मनु बताती है कि यहां तक पहुंचने में उनके माता-पिता ने उनका बहुत समर्थन किया है मनु के पिता कहते हैं कि उसकी चाहत ओर उसके अपने काम के प्रति लगन ही उसे कामयाब बनाती है। मनु को कभी भी पढ़ाई के लिए जबरदस्ती नहीं बोला जाता था क्योंकि वह खुद अपना काम समय पर कर लेती थी। समय की कीमत को मनु भाकर बहुत अच्छे से समझती थी इसीलिए वह इतनी छोटी उम्र में कामयाब हो गई हैं।

मनु भाकर आज भारत की हर लड़की और औरत के लिए प्रेरणा बनकर उभरी है कि आप भी अपने सपनों को कैसे पा सकते हैं और कैसे कम समय में आप कामयाब बन सकते हैं मनु भाकर कहती हैं कि बस आपके अंदर कुछ करने के लिए मेहनत चाहत और लगन चाहिए होती है।


मनु भाकर मैच विवरण


● 4 मार्च को मैक्सिको गुआडलाजरा में होने वाली प्रतियोगिता में मनु ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया है, अलेजैन्ड्रा जवाला नाम की खिलाड़ी को शूटिंग की प्रतियोगिता में हराया, जो लगातार दो साल से पिस्टल शूटिंग की प्रतियोगिता जीतती आ रही थी और अलेजैन्ड्रा जवाला मैक्सिको की रहने वाली हैं।


● अपने मैच के अंतिम राउंड में मनु ने 8 का स्कोर किया, जो कि शूटिंग प्रतियोगिता का 24 वां राउंड था. अंत में मनु ने जवाला को सिर्फ 0.4 की बढ़त से हराया, जिसमें मनु का स्कोर 237.5 था,वहीं जवाला ने अंत तक सिर्फ 237.1 पॉइंट हासिल किए थे।


● इस काटें की टक्कर के बीच जवाला ने दूसरा स्थान हासिल किया एवं सिल्वर मैडल अपने नाम किया. वहीँ 217 पॉइंट के साथ फ्रांस की केलिने तीसरे नंबर पर रहीं और ब्रॉन्ज़ मैडल या कांस्य पदक अपने नाम किया. यश्विनी देसवाल ने 1 पॉइंट हासिल किए और चौथे स्थान पर रही, लेकिन कोई पदक हासिल नहीं कर सकीं।


मनु भाकर सोशल मीडिया संपर्क


ट्विटर - @realmanubhaker


इंस्टाग्राम - @bhakermanu




Post a Comment

0 Comments