बास्केट बॉल प्लयेर माइकल जॉर्डन के जीवन की घटना | michael Jordan success story hindi


बास्केट बॉल प्लयेर माइकल जॉर्डन के जीवन की घटना | michael Jordan success story hindi

दोस्तों आज हम माइकल जॉर्डन के जीवन की एक सच्ची कहानी जानेंगे उम्मीद है कि इस कहानी के द्वारा आपके अंदर की नकारात्मक सोच खत्म हो जाएगी।


जिस तरह सचिन तेंदुलकर क्रिकेट के भगवान माने जाते हैं उसी तरह बास्केटबॉल खेल में माइकल जॉर्डन का नाम सबसे पहले आता है माइकल जॉर्डन एक अमेरिकी बास्केटबॉल खिलाड़ी है जिन्होंने अब संयास ले लिया है।


माइकल बहुत ही गरीब घर में पैदा हुए थे वह और उनका परिवार एक छोटी सी झोपड़ी में रहता था माइकल की सोंच कुछ बड़ा करने की रहती थी जिससे कि उनकी गरीबी की समस्या सुलझ जाए जब वह 13 साल के थे तब एक दिन उनके पिता ने उन्हें बुलाया और एक पुराना यूज किया हुआ कपड़ा देकर बोले इसकी कीमत कितनी होगी माइकल थोड़ा सोचने के बाद बोला यह 1 डॉलर का तो होगा तभी पिता ने कहा कि कुछ भी करके तुम्हें इसे बाजार जा कर दो डॉलर में बेचना है।


माइकल ने उस कपड़े को अच्छे से धो लिया और घर पर प्रेस ना होने की वजह से उसने वह कपड़ा ढेर सारे कपड़ों के नीचे रख दिया अगले दिन देखा कि वह कपड़ा पहले से अच्छा दिखाई दे रहा है उसके बाद उसने पास के रेलवे स्टेशन पर जाकर 5 घंटे की मेहनत के बाद उस कपड़े को बेच दिया और बहुत खुश होता हुआ घर आया और अपने पापा को पैसे दे दिए 15 दिनों के बाद पिता ने उसे फिर से वैसा ही एक कपड़ा दिया और कहा कि जाओ इसे 20 डॉलर में बेच कर आओ माइकल थोड़ा सोच कर बोला इसके 20 डॉलर कौन देगा? पिता ने कहा एक बार कोशिश तो करो।


उसने फिर से अपना दिमाग लगाया ओर अपने दोस्त की मदद से शहर जाकर उस कपड़े पर मिकी माउस का स्टीकर लगा दिया और अमीर घर के बच्चों के स्कूल के सामने जाकर वह कपड़ा बेचने लगा एक छोटे से बच्चे ने अपने पापा से कह कर उस कपड़े को खरीद लिया छोटे बच्चे के पिता ने उस कपड़े के 5 डॉलर एक्स्ट्रा टिप भी दिए और इस तरह उसने 1 डॉलर के उस कपड़े को पूरे 25 डॉलर में बेचा और खुशी-खुशी पिताजी को घर पर आकर बताया।


कुछ दिनों बाद फिर से उसके पिताजी ने एक और कपड़ा दिया और बोले कि जाओ बेटा इसे तुम 200 डॉलर में बेच कर आओ इस बार तो यह बहुत ज्यादा मुश्किल था लेकिन माइकल ने कुछ भी नहीं कहा क्योंकि हर बार वह सफल हो जा रहा था इस बार उसने दो-तीन दिनों का समय लिया उसे कुछ भी समझ नहीं आ रहा था आखिर वह इसका दाम 1 डॉलर से बढ़ाकर 200 डॉलर कैसे करें अचानक उसके दिमाग में एक आईडिया आया और वह तुरंत शहर चला गया।


उस दिन उस शहर में बहुत ही पॉपुलर एक्ट्रेस आई हुई थी उसने पुलिस का घेरा तोड़ते हुए उस एक्ट्रेस से उस कपड़े पर ऑटोग्राफ मांगने चला गया मासूम से बच्चे को देखकर ऐक्ट्रेस मना नहीं कर पाई और उसने उस कपड़े पर अपने ऑटोग्राफ दे दिये अगले दिन वह बाजार जा कर उस एक्ट्रेस वाले कपड़े को 200 डॉलर में बेचने लगा और उसको लेने के लिए बहुत सारे लोग इकट्ठा हो गए भीड़ इतनी ज्यादा हो गई कि उस कपड़े को खरीदने के लिए बोली लगने शुरू हो गई और अंत में उस कपड़े को एक पैसे वाले व्यक्ति ने 2000 डॉलर में खरीद लिया।


जब इस बार वह इतने पैसे लेकर घर पहुंचा और पूरी कहानी अपने पिता को बताई तो उनकी आंखों में आंसू आ गए ओर वह बोले बेटा तू अपनी जिंदगी में कुछ भी कर सकता है इसी बात को याद करते हुए माइकल में एक इंटरव्यू में कहा

“जहां पर सकारात्मक सोच होती है वहां पर रास्ता अपने आप बन जाते हैं” ओर इसी वजह से माइकल जॉर्डन का नाम बास्केट बॉल में सबसे पहले लिया जाता है।


नकारात्मक सोच से कभी भी आप सकारात्मक जीवन नहीं जी सकते इसीलिए हमेशा बड़ा सोचिए और सकारात्मक सोचिए आपका रास्ता खुद ब खुद बन जाएगा।


➡ वॉल्ट डिज्नी कई बार असफल हुए कर्ज में डूबे फिर मिली सफलता 


➡ फॉर्मूला 1 रेसर माइकल शूमाकर के सफलता की कहानी 


➡ कभी रेल्वे स्टेशन पर कचरा उठाया करते थे लेकिन आज है प्रोफेशनल फोटोग्राफर 


➡ नोकरी मांगने के लिए टी शर्ट पर अपना नम्बर लिखकर घूमते थे

Post a Comment

0 Comments