विश्वनाथन आनंद के 28 अनमोल विचार | Viswanathan Anand Quotes In Hindi

विश्वनाथन आनंद के 28 अनमोल विचार | Viswanathan Anand Quotes In Hindi


विश्वनाथन आनंद के 28 अनमोल विचार | Viswanathan Anand Quotes In Hindi

विश्वनाथन आनंद के 28 अनमोल विचार | Viswanathan Anand Quotes In Hindi


1.) "मैं खुद को मजबूर करता रहता हूं, मैं खेल में नई चीजें सीखता रहता हूं, और अब तक मैं चुनौतियों का सामना करता रहा हूं।"


- विश्वनाथन आनंद


2.) "मैं अपनी फिटनेस पर ध्यान देता हूं। मैं हर दिन जिम जाता हूं और अपनी शारीरिक फिटनेस को बनाए रखने की कोशिश करता हूं, इसके बिना शतरंज बोर्ड पर चुनौतियों का सामना करना मुश्किल है।"


- विश्वनाथन आनंद


3.) "बिना जोखिम उठाये जीवन ठहर जाएगा।"


- विश्वनाथन आनंद


4.) "जब आप दुनिया में सर्वश्रेष्ठ के साथ खेलते हैं, तो यह महत्वपूर्ण है कि आप अपना ध्यान न खोएं। आपको पूरी तरह से ध्यान केंद्रित करना चाहिए। यहां तक ​​​​कि एक छोटी सी गलती भी बड़ी हार का कारण बन सकती है।"


- विश्वनाथन आनंद


5.) "जीवन में कुछ बुरे दौर रहे लेकिन आत्मविश्वास हमेशा रहा कि इससे पार निकल जाएंगे यह आत्मविश्वास वो मेहनत देती है जो आप किसी काम को करने में इन्वेस्ट करते हैं। अपना 100 फीसदी दें और बेहतर करने की कोशिश करें। रिजल्ट तुरंत नहीं मिलेगा लेकिन मिलेगा। कोशिश करना हमारा काम है उसे नही छोड़ना चाहिए।"


- विश्वनाथन आनंद


6.) "मुझे लगता है कि खेल से एक महत्वपूर्ण सबक यह है कि एक बार जब आप एक कदम उठाते हैं, तो आप इसे वापस नहीं ले सकते हैं। आपको वास्तव में अपने निर्णयों को मापना होगा। आप बहुत सोचते हैं। आप अपनी पसंद का बहुत सावधानी से मूल्यांकन करते हैं। इस बारे में कोई गारंटी नहीं है कि क्या है एक बार निर्णय लेने के बाद पालन करने जा रहे हैं।"


- विश्वनाथन आनंद


7.) "चेस बोर्ड पर तो हर चीज कंट्रोल में ली जा सकती है लेकिन जिंदगी में ऐसा कुछ नहीं हो सकता वहां तो केवल आपका खुद पर काबू है आपने खुद को काबू में कर लिया तो काफी है ऐसा करके आप हर स्थिति से निकल सकते हैं यह परिस्थितियां कैसी होंगी यह निर्भर करता है आपकी पिछली चालों कर मतलब जो आपने किया है उस पर।"


- विश्वनाथन आनंद


8.) "आप जो भी कर रहे हैं उसका असर आने वाले वक्त पर जरूर होगा।"


- विश्वनाथन आनंद


9.) "आपको खुद को प्रेरित करने की ज़रूरत है, चाहे कुछ भी हो-निश्चित रूप से जब चीजें खराब हों, लेकिन जब चीजें अच्छी हों। अन्यथा, आप आत्मसंतुष्ट होने का जोखिम उठाते हैं।"


- विश्वनाथन आनंद


10.) "खुद को लगातार मोटीवेट करते रहें अच्छे हालात हों तब भी ओर बुरे हालात हो तब और अधिक।"


- विश्वनाथन आनंद


11.) "एक खेल से ठीक पहले, मैं एक स्पष्ट दिमाग रखने की कोशिश करता हूं ताकि मैं बेहतर ध्यान केंद्रित कर सकूं। मैं उस तरह का व्यक्ति हूं जो तेजी से खेलता है और अंतर्ज्ञान पर बहुत निर्भर करता है, इसलिए खुद के साथ शांति से रहना महत्वपूर्ण है। मेरी दैनिक प्रार्थना करना मुझे इस बढ़ी हुई मनःस्थिति को प्राप्त करने में मदद करता है।"


- विश्वनाथन आनंद


12.) "कुछ नया करते रहें यही आपकी ताकत होनी चाहिए।"


- विश्वनाथन आनंद


13.) "चेस बोर्ड हो या ज़िंदगी जीतना है तो फिट रहिये।"


- विश्वनाथन आनंद


14.) "जब आप एक कमजोर खिलाड़ी का सामना करने की तैयारी कर रहे होते हैं तो हमेशा अति-आत्मविश्वास का जोखिम होता है।"


- विश्वनाथन आनंद


15.) "आत्मविश्वास बहुत महत्वपूर्ण है - यहां तक ​​कि आत्मविश्वासी होने का दिखावा भी। यदि आप कोई गलती करते हैं लेकिन अपने प्रतिद्वंद्वी को यह देखने नहीं देते कि आप क्या सोच रहे हैं तो वह गलती को नजरअंदाज कर सकता है।"


- विश्वनाथन आनंद


● क्रिस्टियानो रोनाल्डो के प्रसिद्ध अनमोल विचार


16.) "शतरंज में अंतर्ज्ञान को पहली चाल के रूप में परिभाषित किया जा सकता है जो किसी स्थिति को देखते ही दिमाग में आता है।"


- विश्वनाथन आनंद


17.) "मैं जो भी मैच खेलता हूं वह अब तक का सबसे महत्वपूर्ण मैच है।"


- विश्वनाथन आनंद


18.) "एक जीत एक जीत है, जो उस विशेष क्षण के बारे में है।"


- विश्वनाथन आनंद


19.) "शतरंज एक भाषा की तरह है, शीर्ष खिलाड़ी इसमें बहुत पारंगत हैं। प्रतिभा को वैज्ञानिक रूप से विकसित किया जा सकता है लेकिन आपको पहले यह पता लगाना होगा कि आप किसमें अच्छे हैं।"


- विश्वनाथन आनंद


20.) "किसी भी मैच में, कुछ महत्वपूर्ण क्षण होते हैं जहां कोई दूसरा सबसे अच्छा निर्णय नहीं होता है। बाकी चालें सहज होती हैं।"


- विश्वनाथन आनंद


21.) "आप जितने व्यापक शतरंज खिलाड़ी हैं, प्रतिस्पर्धी होना उतना ही आसान है, और गणित के बारे में भी यही सच लगता है - यदि आप गणित की विभिन्न शाखाओं के बीच संबंध ढूंढ सकते हैं, तो यह आपको समस्याओं को हल करने में मदद कर सकता है। गणित और शतरंज दोनों में , आप मौजूदा सिद्धांत का अध्ययन करते हैं और आगे बढ़ने के लिए उसका उपयोग करते हैं।"


- विश्वनाथन आनंद


22.) "मेरे लिए, प्रत्येक खेल एक नई चुनौती है, जिसे तर्कसंगत और व्यवस्थित रूप से निपटाया जाना है। उस समय, हर दूसरा विचार विस्मृत हो जाता है।"


- विश्वनाथन आनंद


23.) एक खेल से पहले, मैं भारी भोजन करने से बचता हूं ताकि मुझे बोर्ड पर नींद न आए। आप स्वस्थ रहने के लिए खाते हैं, और यह आम तौर पर हर चीज का ख्याल रखता है। इसके अलावा, आप बहुत चालाक नहीं हो सकते, क्योंकि टूर्नामेंट में आप यहां और वहां के रेस्तरां में खाना खाते हैं। लेकिन, जब तक आप समझदारी से खा रहे हैं, यह सब अच्छा है।


- विश्वनाथन आनंद


24.) "एक खेल के रूप में शतरंज के लिए बहुत अधिक मानसिक सहनशक्ति की आवश्यकता होती है, और यही वह है जो इसे एक शारीरिक खेल से अलग बनाती है। शतरंज के खिलाड़ियों में बहुत सारी जानकारी लेने और प्रासंगिक बिट्स को याद रखने की अद्वितीय क्षमता होती है। इसलिए, स्मृति और मानसिक सहनशक्ति हैं प्रमुख गुण।"


- विश्वनाथन आनंद


25.) "माता-पिता, सबसे पहले और सबसे महत्वपूर्ण, उन गतिविधियों को समझना और पहचानना महत्वपूर्ण है जिनकी ओर आपका बच्चा स्वाभाविक रूप से आकर्षित हो रहा है। यह सुनिश्चित करना भी महत्वपूर्ण है कि आपके बच्चे को वह पसंद है जो वह कर रहा है। मैं बच्चों को अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाने में विश्वास करता हूं। शौक और पाठ्येतर गतिविधियाँ यथासंभव।"


- विश्वनाथन आनंद



26.) "आजकल, जब आप 14 साल के ग्रैंडमास्टर नहीं हैं, तो आप इसे भूल सकते हैं"


- विश्वनाथन आनंद


27.) "मेरे अनुसार, यह महत्वपूर्ण है कि छोटी खुराक में प्रशिक्षण लिया जाए ताकि शतरंज खेलने का आनंद न खोएं। मुझे व्यक्तिगत रूप से लगता है कि बहुत सारी कोचिंग और प्रशिक्षण कक्षाएं खेल में ही बच्चे की रुचि को छीन सकती हैं। आवश्यक बात यह है कि अक्सर अभ्यास करें और संदेह की स्थिति में प्रशिक्षक से सलाह लें।"


- विश्वनाथन आनंद


28.) "मेरे लिए, शतरंज एक पेशा नहीं है, यह जीवन का एक तरीका है, एक जुनून है। लोगों को लग सकता है कि मैंने शिखर पर विजय प्राप्त कर ली है और मुझे संघर्ष नहीं करना पड़ेगा। आर्थिक रूप से, शायद यह सच है, लेकिन जहां तक ​​शतरंज की बात है, मैं अभी भी बहुत कुछ सीख रहा हूँ!"


- विश्वनाथन आनंद






Post a Comment

0 Comments