दर्शन सिंह चौधरी का रजनीतिक जीवन परिचय | Darshan singh Choudhary biography in hindi




कौन है दर्शन सिंह चौधरी



बनखेड़ी ब्लॉक के छोटे से ग्राम जादौन के रहने वाले दर्शन सिंह किसान परिवार से हैं वह अपना शिक्षक का पद छोड़कर किसानों के सारथी बने हैं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में स्वयंसेवक भी रहे उन्होंने भारतीय किसान संघ में जिम्मेदारी एवं भूमिका किसान संघ बनखेड़ी ब्लाक अध्यक्ष 2002 से 2005 तक जिम्मेदारी निभाई।

किसान संघ के तत्वाधान में संभाग स्तर पर 154 प्रशिक्षण वर्ग प्रभारी के रूप में जिम्मेदारी निभाई।

भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा में मई 2017 में प्रदेश उपाध्यक्ष बने।

2018 में प्रदेश समन्वयक बनी अब भाजपा किसान मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष चुने गए हैं।

 

दर्शन चौधरी का भाषण


भारतीय जनता पार्टी मध्यप्रदेश किसान मोर्चा के अध्यक्ष दर्शन सिंह चौधरी ने कहा है कि मध्यप्रदेश के अब किसान जैविक खेती को बढावा दे रहे हैं, वहीं उन्हें बिजली की मोटर पर भी अनुदान मिल रहा है। वहीं किसानों को एक क्लिक से खाते में पैसे डाल रहीं है।


अपने प्रवास के दौरान आज यहां पत्रकारों से चर्चा करते हुये उन्होंने बताया कि केन्द्र की सरकार के साथ ही राज्य की सरकार भी किसानों के हित के कार्य कर रहीं हैं। वहीं इस विपरीत परिस्थिति में भी 7618 करोड रूपये एक क्लिक से किसानों के खाते मे डाले गये हैं। इतना ही नहीं अभी तक 10494 करोड किसानों के खाते में डाले जा चुके हैं। उन्होने कहा कि पूर्व की कमलनाथ सरकार के समय में बंद कर दी गई किसानों की योजनाओं को पुन: शुरू किया जा रहा है। कुछ को शुरू किया जा चुका है। वहीं मप्र सरकार ने आरबीसी 6 (4) में परिवर्तन कर किसानों के खाते में सीधे पैसे डाले जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि मप्र कृषि मामले में पहला राज्य है जहां कृषि जीडीपी 18 से 22 प्रतिशत तक है। उन्होंने बताया कि अभी साढे सात लाख हेक्टेयर में सिंचाई की जा रही है इसे अब 42 लाख हेक्टेयर तक राज्य सरकार कर रही है।


चौधरी ने बताया कि सूरत में संपन्न किसान सम्मेलन में प्राकृतिक खेती को बढावा देने पर जोर दिया गया। और किसान अपनी पूर्व खेती के तरीके प्राकृतिक खेती की ओर लौट रहे हैं। इससे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सोच आत्मनिर्भर भारत की ओर किसान जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि प्राकृतिक आपदा के बाद भी किसानों की फसलों को हुये नुकसान की भरपाई राज्य सरकार ने 202 करोड 90 लाख की राशि एक लाख 46 हजार 101 किसानों के खाते में डाल दी गई है। इसके लिये किसान मोर्चा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का धन्यवाद ज्ञापित करता है। उन्होने कहा कि सरकार फसल के विविधीकरण पर जोर दे रही है। प्रदेश में ऋषि खेती , आर्गेनिक खेती और प्रकृतिक खेती की दिशा में कार्य हो रही है। किसानों ने अपनी बीज उत्पादन कंपनियां बना ली है। वहीं फलोद्यान और उद्यानिकी पर भी किसान कार्य करने लगे हैं। उन्होने बताया कि बीज सेलिंग प्लान को अद्यतन कर 3 हजार नये बीज ग्राम विकसित किये जा रहे हैं। प्रदेश के सभी विकास खंडों में उच्च गुणवत्ता वाली मिटटी परीक्षण 


धार में आयोजित किसान जवान सम्मान समारोह को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष श्री दर्शन सिंह चौधरी ने अपने उद्बोधन में कहा कि प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में केंद्र सरकार द्वारा देश के किसानों और जवानों के लिए अनेक ऐतिहासिक योजनाएं संचालित की जा रही हैं. भाजपा की सरकार किसान हितेषी सरकार है, केंद्र में मोदी सरकार और राज्य में शिवराज सिंह चौहान की सरकार किसान हितेषी अनेकों योजनाएं संचालित की जा रही हैं। प्रधानमंत्री जी ने आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत आत्मनिर्भर कृषि के लिए कृषि अवसंरचना निधि स्थापित करने के लिए एक लाख करोड़ रुपए, प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के जरिए मछुआरों के लिए हजारों को रुपए, पशुपालकों के लिए पशुपालन अवसंरचना विकास कोष के लिए 15,000 करोड़ रुपए, औषधि खेती के लिए 4,000 करोड़ रुपए, मधुमक्खी पालन के लिए 500 करोड़ और सब्जियों की खेती के लिए 500 करोड़ रुपए का प्रावधान किया है साथ ही प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत देश के लगभग 11. 37 करोड़ किसानों के बैंक खातों में हजारों करोड़ की राशि पहुंचाए हैं।

उन्होंने बताया कि मोदी सरकार द्वारा किसानों को अल्पावधि ऋण के लिए ब्याज राजसहायता के रूप में कुल 68,318.73 करोड़ रुपये दिये हैं।

Post a Comment

0 Comments