टाइम ब्लॉकिंग क्या है इसका उपयोग कैसे करें | Time blocking method in hindi

टाइम ब्लॉकिंग क्या है इसका उपयोग कैसे करें | Time blocking method in hindi


Time blocking method in hindi

दोस्तों कोई भी एक दिन में सक्सेस नहीं होता सभी को 1 दिन में 24 घंटे ही मिलते हैं कोई दिन का सही इस्तेमाल करता है। तो कोई दिन भर यही सोचने में लगा देता है कि आखिर मैं करूं क्या। अगर आप किसी सक्सेसफुल इंसान से यह पूछे कि आपका कल का शेड्यूल क्या है? तो वह आप को बता देगा क्योंकि उसके पास एक प्लान है, उसका अपना प्लान जो उसे बताता है कि आगे क्या करना है। कौन सा काम कौन से वक्त पर करना है और कब तक उसे खत्म करना है। मतलब कि उस व्यक्ति के पास अपने काम की दिनभर की पूरी प्लानिंग होती है और जब किसी काम को प्लान के साथ किया जाता है तो सफलता कैसे नहीं मिलेगी इसलिये आज हम आपके दिन को शेड्यूल करने के लिए टाइम ब्लॉक करना सिखाएंगे टाइम ब्लॉक का उपयोग कई सक्सेसफुल लोग जैसे बिल गेट्स, ओर एलोन मस्क बी करते हैं तो चलिए जानते हैं क्या है Time block.


क्या होता है Time blocking Method.


Time Blocking Method की मदद से हम अपने 1 दिन के सारे काम की समय सीमा निर्धारित करते हैं जैसे अगले दिन सुबह आपको 2 घंटे के लिए वॉक पर जाना है तो आप सुबह का समय निर्धारित कर सकते हैं जैसे आपको सुबह 5 से 7 बजे तक वॉक करनी है। इसके बाद 30 मिनट का रेस्ट लेकर इसके बाद आपको अगर कोई बुक पढ़नी हो तो आप उसके लिए 1 घंटे का टाइम सेट कर सकते हैं और इस 1 घंटे में आप के जितने पेज पढ़ना चाहते हैं उतने पढ़ सकते हैं यह समय खत्म होने के बाद अब कुछ मिनट का रेस्ट लेकर फिर अपने काम के लिए एक टाइम सेट कर सकते हैं इसी तरह आप दिन भर अपने काम के छोटे-छोटे हिस्सों को समय के अनुसार निर्धारित कर सकते हैं।


आपको अपना Time blocking method कैसे तैयार करना है?


आपको सबसे पहले कल कौन-कौन से काम करने हैं उन सभी कामों को एक सादे कागज पर लिख लीजिए और उसमें से जो सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है उसे नोट कर लीजिए। अब उस काम के आगे जो भी समय आपको लगने वाला है उसे भी उस पर नोट कर लीजिए मतलब जैसे कि अगर आपको कल पढ़ाई करनी हैं और 2 घंटे तक करनी है तो इसे पढ़ाई के आगे 2 घंटे लिख लीजिए।


अब आप 24 घंटे में अलग-अलग घंटों का टाइम स्लॉट बनाइए और अपने टाइम स्लॉट में उस काम में लगने वाले समय सीमा को लिख लीजिए। जैसे कल सुबह 2 घंटे आपको मॉर्निंग वॉक पर जाना है और यह काम आपको सुबह 5:00 बजे से 7:00 बजे तक करना है तो आपको वहां पर लिखना होगा ऐसे ही आप अपने हर काम को शेड्यूल कर लीजिए घंटे काम और उसमें लगने वाले समय के हिसाब से अब आप के दिनभर के काम करने का शेड्यूल तैयार हो जाएगा


अगर आपकी एनर्जी मॉर्निंग में ज्यादा रहती है और शाम ढलते ढलते कम हो जाती है तो आप वह काम सुबह-सुबह करो जो सबसे ज्यादा जरूरी है, जिनमें आपकी मानसिक और शारीरिक ऊर्जा ज्यादा लगती है। उस महत्वपूर्ण काम को एक बड़ा टाइम ब्लॉक दो जैसे स्टडी, रिसर्च या बिजनेस वर्क आप इन्हें 3 घंटे भी दे सकते हैं। और दोपहर में आप लंच और थोड़े ब्रेक को अपने टाइम ब्लॉक में शामिल कर सकते हैं और शाम को आपको अपनी कुछ महत्वपूर्ण चीजें करनी है और रात को आपको यह डिसाइड करना है कि आप कितने बजे तक यह सब चीजें निपटा चुके होंगे।


वैसे तो दो तरीके हैं time blocking को फॉलो करने के पहला यह कि आपको रोज एक रात सोने से पहले अपना time blocking सेट करना है। और दूसरा यह है कि आप रोज रोज टाइम सेट करने की बजाय किसी हफ्ते के स्टार्टिंग के पहले ही डिसाइड कर लो कि आपको हफ्ते भर कौन सी चीज करनी है कौन से दिन क्या-क्या करना है और किसको कितना समय देना है। आप हर दिन 2 से 3 इंर्पोटेंट चीजें या काम करें आप जितनी कम और इंर्पोटेंट चीजें करोगे उतना ही ज्यादा अच्छा रहेगा। आप चाहे कम ही इंपोर्टेंट चीजें करो लेकिन उसे पूरा करो और यही हमारा लक्ष्य होना चाहिए।


बस इतना ही करना है लेकिन दोस्तों सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि सिर्फ लिखने से ही काम नहीं चलेगा आपको उसे अपने रूटीन में शामिल करना होगा वह भी आपके द्वारा बनाए गए एक समय सीमा के अंदर और यही चुनौती है इंसान के सामने जिसने इसे फॉलो कर लिया वह सफल हो गया।


दोस्तों इसमें कभी-कभी ऐसा भी हो जाता है कि हम कोई काम नहीं कर पाते हैं तो अपने टाइम ब्लॉकिंग में से उसके लिए एक अलग स्लॉट बनाइये ताकि बचे हुए काम को उस समय के अंदर कर सकें।


Time blocking method का उपयोग करने से लाभ


● Time blocking करने से आप किसी काम को समय सीमा के अंदर पूरा कर पाएंगे और आप काम की टेंशन से फ्री रहेंगे।


● ऐसा करने से आप पर किसी काम का प्रेशर नहीं पड़ेगा।


● Time block से हम अपने काम को छोटे-छोटे हिस्सों में तोड़ देते है। जिससे काम करना आसान हो जाता है और जब यह काम आसान हो जाता है तब हम एक एक स्टेप करके आगे बढ़ते जाते हैं जो कि हमें मोटिवेट रखता है।


● Time blocking करने से हमारी इच्छा शक्ति मजबूत होती है क्योंकि हम हर दिन सोचते तो बहुत है कि आज यह काम करना है या वह करना है लेकिन कुछ भी नहीं हो पाता। और टाइम खराब हो जाता है इसीलिए अगर हम टाइम को पहले से ही सेट कर लें या टाइम ब्लॉकिंग कर ले तो हमारा काफी वक्त बच जाएगा और हम समय का सही उपयोग कर पाएंगे जिससे हमें काम करते रहने की प्रेरणा मिलेगी।


● टाइम ब्लॉकिंग करने से हमें अपने काम का पता चलता है कि कितना काम हम कर रहे हैं। कोई काम समय पर हुआ या नहीं। इसका फायदा यह होता है कि हम अपने काम के बारे में बार-बार नहीं सोचते हैं, हमारी एक समय सीमा होती है तभी हम उस काम को खत्म करते हैं और पूरा काम होने के बाद यह भी देख सकते हैं कि कोई काम समय पर खत्म हो रहा है या नहीं या उसे ज्यादा समय देना पड़ रहा है।


● जब हम Time blocking करते हैं तो सारे कामों की समय सीमा तय हो जाती है और इसके बाद भी हमारे पास टाइम बच जाता है। इस बचे हुए टाइम को भी हम अच्छे से उपयोग कर सकते हैं, बचे हुए टाइम में हम अपनी मर्जी का काम कर सकते हैं टाइम ब्लॉकिंग से हमारे समय की बर्बादी भी बच जाती है।


● एक बार जब आप Time blocking कर लेते हो तब आपके सारे काम समय पर होते हैं और जब सारे काम समय पर होते हैं तब आपके दिमाग को संतुष्टि मिलती है, इससे आपके अंदर नकारात्मक विचार नहीं आते हैं क्योंकि जब हमारे काम समय पर नहीं होते तो हमारे अंदर नकारात्मक विचार आने लगते हैं और चिड़चिड़ाहट होने लगती है।


Post a Comment

0 Comments