7 आदतें स्वस्थ जीवनशैली दिनचर्या के लिए - 7 way maintain a healthy lifestyle in hindi

स्वस्थ रहने के लिए दिनचर्या | हमेशा स्वस्थ कैसे रहें - 7 way maintain a healthy lifestyle in hindi


स्वस्थ रहने के लिए दिनचर्या | हमेशा स्वस्थ कैसे रहें 7 way maintain a healthy lifestyle in hindi


हेल्थ बिल्कुल वेल्थ के जैसा है जब तक कि हम उसे खो नहीं देते तब तक हमें उसकी असली कीमत समझ नहीं आती जब हमें हेल्थ से संबंधित कोई समस्या होती है तब हमें समझ आता है कि अब हेल्थ पर ध्यान देना होगा। जिस तरह से आज हम अपनी एनर्जी मोबाइल पर समय बिताने में लगाते हैं सिर्फ उतना ही समय अगर हम अपनी हेल्थ पर बिताएं तो हमारी सेहत कितनी सही हो सकती है आपको अंदाजा भी नहीं होगा। आज इस पोस्ट में हम स्वस्थ जीवन शैली, दिनचर्या ओर स्वस्थ रहने के लिए अच्छी आदतें जानेंगे।


स्वस्थ जीवनशैली का रूटीन (Healthy Life Routine in Hindi)


1.) सुबह दिमाग को शांत बनाये रखना


जब आप सुबह उठते हो तब आपके मन में यह ख्याल आता है कि यहां जाना है, वहां जाना है या यह करना है, वह काम करना है, तो उठने के ठीक बाद मतलब जैसे ही आपकी आंखें खुली तब आपको प्रजेंट मूवमेंट में रहना सीखना चाहिए मतलब उठने के कुछ सेकंड बाद आपने क्या किया, आपको क्या करना है, सब भूल जाओ आपको बस अपने दिमाग को शांत बनाएं रखना है कुछ सेकंड तक कुछ भी नहीं सोचना है इसे जीरो थॉट प्रोसेस कहते है।


जीरो थॉट यानी जब आपके दिमाग में कुछ नहीं चल रहा होता जब आप एकदम स्थिर रहते हो इसे द स्टेट ऑफ नो माइंड भी कहते हैं। यह स्टेट दुनिया के बहुत कम ही लोग हासिल कर पाते हैं सुबह उठने के बाद 10 सेकंड तक कुछ भी नहीं सोचना जिंदगी में सफलता हासिल करने का बहुत बड़ा कनेक्शन है अगर आप सुबह उठकर सिर्फ 10 सेकंड के लिए कुछ भी नहीं सोचोगे तो आपके अंदर एक अजीब सी उर्जा जागने लगेगी और सिर्फ उस 10 सेकंड के लिए आपकी उर्जा पूरे दिन बनी रहेगी जीरो थॉट प्रोसेस मेडिटेशन से भी ज्यादा शक्तिशाली चीज है तो सुबह आपको आंख खोलते से ही एक सेकेंड के लिए कुछ भी नहीं सोचना है एकदम शांत रहना है 10 सेकंड के लिए अपने दिमाग को स्थिर करो वह कहते हैं ना फर्स्ट इंप्रेशन इज द लास्ट इंप्रेशन सुबह भी आपके साथ यही होता है जब आप सुबह उठे आपने किसी चीज का प्रेशर लिया तो पूरा दिन आपका वेसा ही गुजरता है आप सुबह उठते से ही कोई भी नकारात्मक चीजों के बारे में मत सोचो या खराब चीजों के बारे में मत सोचो क्योंकि आप का सुबह का समय आपका पूरा दिन कैसा जाएगा यह तय करता है तो आप अपनी पूरी दिनचर्या भला क्यों बिगाड़ना चाहोगे।


2.) व्यायाम करना


नियमित व्यायाम करने से हमारे शरीर में रक्त का संचार तेज होता है इसी के साथ हमारे स्टैमिना भी बढ़ता है। व्यायाम करने से हमारा हृदय अधिक मात्रा में ब्लड पंप कर पाता है और अधिक मात्रा में हम ऑक्सीजन को ले पाते हैं। हर रोज एक्सरसाइज करने से आप कई तरह की बीमारियों से बच जाते हैं जैसे कैंसर, ब्लड कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों से व्यायाम हमें बचाता है इसके साथ ही आपकी प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है और आपके शरीर में एनर्जी का लेवल भी बढ़ता है व्यायाम करने से मानसिक व डिप्रेशन की समस्याएं भी खत्म हो जाती है।


सुझाव


● शुरआत में आप कुछ समय के लिए ही सुबह हर दिन व्यायाम करें धीरे धीरे यह आपकी आदत में शामिल हो जाएगा।


● कुछ छोटे-छोटे आसानी से हो जाने वाले व्यायाम आप घर पर भी कर सकते हैं।


● आप ऐसे लोगों के समूह के साथ रह सकते हैं जो नियमित व्यायाम करते हैं जब आप उनके साथ रहेंगे तो आप भी अच्छे से और नियमित रूप से व्यायाम करने लगेंगे।


3.) बाएं तरफ सोना


हमें क्यों बाईं तरफ ही सोना चाहिए? हमारे आमाशय की प्रक्रिया के मुताबिक दाएं तरफ सोने से हमारे आमाशय से निकलने वाला एसिड( अम्ल ) कई तरह की समस्याएं उत्पन्न करता है जैसे पाचन संबंधी समस्या और खून के बहाव में समस्या जैसी कई समस्याएं उत्पन्न करता है जिससे हमारे शरीर में कई बीमारियां पैदा हो सकती है। जबकि बाएं तरफ सोने से आमाशय की प्रक्रिया के मुताबिक हमारा आमाशय अच्छे से भोजन को पचा पाता है और हमारे दिल पर भी ज्यादा दबाव नहीं पड़ता बाएं तरफ सोने से हमारे पाचन तंत्र पर ज्यादा दबाव नहीं पड़ता है और भोजन अच्छे से पच जाने के कारण हमें कब्ज की समस्या नहीं होती है इस तरह से सोने से सुबह पेट अच्छी तरह से साफ हो जाता है इस तरह से सोने से पेट का एसिड ऊपर ना आकर नीचे ही रहता है जिससे हमें सीने में जलन और एसिडिटी की समस्या नहीं होती है।


सुझाव


● अगर आपको बाईं तरफ करवट लेकर सोने की आदत नहीं है तो इसे धीरे-धीरे अपनी आदत में शामिल करें और जब भी करवट लें तो यह याद रखें कि करवट बाईं तरफ लेना है।


4.) खूब पानी पीना


हमारी बिजी लाइफ में ज्यादातर लोग पानी पीना ही भूल जाते हैं या जब प्यास लगती है तभी थोड़ा सा पानी पी लेते हैं जो कि हमारे स्वास्थ्य के लिए बिल्कुल भी सही नहीं है पानी पीने से भी हम कई तरह की बीमारियों से बच सकते हैं जैसे आंतों का कैंसर, मूत्राशय, किडनी संबंधी समस्याएं हाइपरटेंशन जैसी समस्याओं से निजात दिलाता है। क्योंकि जब हमारे शरीर में पानी का स्तर बेहतर होता है तो यह हमारे शरीर से विषैले और हानिकारक तत्वों को आसानी से शरीर के बाहर निकाल देता है सुबह के समय पानी पीना मेटाबॉलिज्म सुधरता है, खाने से पहले पानी पीने से हम ओवरइटिंग से बच जाते हैं आपको हर दिन लगभग 8 से 10 गिलास पानी जरूर करना चाहिए।


सुझाव


● हर सुबह उठकर आप यह याद रखिए कि सुबह उठकर एक गिलास गुनगुना पानी पीना है, अगर आप कुछ दिन तक यह करते हैं तो सुबह उठकर पानी पीना आपकी आदत बन जाएगी।


● आप यह याद रखें कि आपको दिन में हर आधा या 1 घंटे बाद पानी पीना है, आप यह याद रख नहीं पाते हैं तो आप अपने मोबाइल में वाटर रिमाइंडर भी लगा सकते हैं जो आपको पानी पीने की याद दिलाता रहेगा।


● आप कोई भी काम कर रहे हैं तो अपनी पानी की बोतल अपने साथ जरूर रखें, जब भी आप काम से थोड़ा ब्रेक ले तो थोड़ा-थोड़ा पानी जरूर पीएं इससे आप दिन में 8 से 10 गिलास पानी जरूर पी पाएंगे।


5.) रोज़ कुछ देर पैदल चलना


विश्व स्वास्थ्य संगठन की एक रिपोर्ट के मुताबिक हेल्दी रहने के लिए हमें हर रोज 8000 कदम चलना चाहिए। टहलना या फिर चलने से हमें अवसाद का खतरा कम रहता है और हम सकारात्मक महसूस करते हैं पैदल चलने से रक्तचाप नियंत्रण में रहता है जो कि हमारी सेहत के लिए बहुत जरूरी है। चलना बहुत ही आसान है इसीलिए आपको किसी भी अन्य एक्सरसाइज की तुलना में इसमें ज्यादा प्रयास करने की जरूरत नहीं होती है। चलने से मूड फ्रेश रहता है और तनाव भी कम होता है साथ ही कैंसर और डायबिटीज जैसी बीमारियों का खतरा भी कम हो जाता है और हमारा वजन भी घटता है।


सुझाव


● चलने की शुरुआत आप 15 मिनट से कर सकते हैं फिर धीरे-धीरे करके आप दिन में कम से कम आधा घंटा चल सकते हैं लेकिन अगर आपको 30 मिनट चलना मुश्किल लग रहा है तो आप 10 -10 मिनट का ब्रेक लेकर चल सकते हैं


● आप चलने के लिए कोई भी बहाना ढूंढ सकते हैं जैसे अगर आपके घर या ऑफिस में आप लिफ्ट से जाते हैं तो उसकी जगह सीढ़ियों का उपयोग कर सकते हैं।


● आप अपने घर की छत पर या अपने घर पर भी थोड़ा बहुत टहल सकते हैं।



6.) खाने को 32 बार चबाकर खाएं


आयुर्वेद में कहा गया है किसी भी बीमारी की जड़ है हमारा पेट अगर हम हमारे पेट को हेल्थी रख पाए तो हमारा शरीर भी हेल्थी रहेगा। पेट को सही रखने के लिए दो सबसे जरूरी बात है पहली जंक फूड ना खाना और दूसरी पाचन क्रिया ठीक रखना, और इन दोनों में ही आपको बहुत मदद मिलेगी अगर आप अपने खाने को 32 बार चबाकर खाते हो तो। कोई भी जंक फूड अगर आप 32 बार चबाकर खाओगे तो वह आपको बिल्कुल भी टेस्टी नहीं लगेगा लेकिन कोई भी हेल्दी खाना आप जितना चबाकर खाओगे वह उतना ही अच्छा लगेगा इसलिए अगर आप 32 बार चबाकर खाना खाने की आदत बना लेते हो तो जंक फूड खाने का मन ही नहीं करेगा। दूसरी ध्यान देने वाली बात यह भी है कि खाने का 50% डाइजेशन हमारे मुंह में खाना रहते वक्त ही हो जाना चाहिए और बाकी का 50% खाना पेट में जाकर, खाने को जल्दी से निगल जाने पर डाइजेशन का मुंह वाला पार्ट ठीक से हो नहीं पाता इसीलिए खाना अच्छे से पच भी नहीं पता है। इसीलिए अगर हम थोड़ी सी तकलीफ उठा कर खाने को 32 बार चबाकर खाएं तो हम कई बीमारियों से दूर रह सकते हैं।


सुझाव


● घर से बाहर अगर आपका जंक फूड खाने का मन है तो उसकी जगह आप कुछ हेल्दी स्नैक्स कहा सकते है।


● खाना जल्दी जल्दी में ना खाएं अच्छी तरह चबाकर खाएँ


7.) करीबी लोग भी स्वास्थ्य के लियें जागरूक हों


अगर आपके सारे दोस्त ऐसे हैं जो हर रोज जंग फूड खाते रहते हैं तो जिनके लिए आलस कूल और एक्सरसाइज मतलब बोरिंग है या फिर सिगरेट और बीयर वगैरह पीते हैं तो अगर आप उनके साथ रहते थे है तो हो सकता है आप भी उनकी आदतें सीख जाएं।


वहीं दूसरी तरफ अगर आपके दोस्त ऐसे हैं जो हर रोज एक्सरसाइज करते हैं, अपनी हेल्थ के लिए जागरूक हैं, जंक फूड को अवॉइड करते हैं तो हो सकता है कि आप भी उनकी तरह आदतें अपना ले इसलिए आप अपने करीबी दोस्तों में जिनके साथ आप ज्यादा समय बिताते हो उनको इस तरह से चुनों जो हेल्थ के लिए जागरूक हो जिनको पता है कि हेल्थ इस द रियल वेल्थ, इस तरह से आप भी स्वस्थ रहने की अच्छी आदतों को अपना पाएंगे।


सुझाव


● आपको ऐसे लोगों के साथ रहना है जो अपनी सेहत के लिए जागरूक हों।

Post a Comment

0 Comments