महेंद्र सिंह धोनी जीवन परिचय | Mahendra Singh Dhoni biography in hindi

महेंद्र सिंह धोनी जीवन परिचय(रिकॉर्ड्स, विवाह दिनांक, पुरस्कार, बायोग्राफी, ऊँचाई, आयु, जाती)  - Mahendra Singh Dhoni biography in hindi, life story, age, height, records, family, wife, caste

महेंद्र सिंह धोनी जीवन परिचय - Mahendra Singh Dhoni biography in hindi

क्रिकेट का भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर का कहना है की धोनी दुनिया के बेस्ट कप्तान है मुझे खुशी है कि वह मेरे खेलते समय मेरे कप्तान रह चुके हैं।


धोनी के बारे में जानकारी


पूरा नाम (Real Name) - महेन्द्र सिंह धोनी

उपनाम (Nickname) - माही, एमएस, एमएसडी
 
जन्म स्थान (Birth place) - रांची, बिहार, भारत

जन्म तारीख (Date of Birth) - 7 जुलाई 1981

जाति (Caste) - हिन्दू

 शैक्षिक योग्यता (Educational Qualification) - 12 वीं कक्षा पास

शिक्षा कहाँ से ली - रांची

पत्नी का नाम (Wife) - साक्षी सिंह रावत

कुल बच्चे (Children) - एक, जीवा (लड़की)

पेशा (Profession) - क्रिकेटर और भारत के पूर्व कप्तान


पहला टेस्ट मैच (Test debut) - 2 दिसंबर, 2005 बनाम श्रीलंका टीम

पहला ओडीआई (ODI debut) - 23 दिसंबर 2004 बनाम बांग्लादेश टीम

लंबाई (Height) - 5 फ़ीट 9 इंच

वजन ( Weight) - 70 किलो

कुल संपत्ति ( Net worth) - 700 करोड़ लगभग


प्रारंभिक जीवन और शिक्षा


महेंद्र सिंह धोनी का जन्म 7 जुलाई 1981 को रांची में हुआ था जो कि अब झारखंड में है उनके पिता का नाम पान सिंह और मां का नाम देवकी है धोनी के साथ ही उनकी एक बहन है जिसका नाम जयंती है और एक भाई भी है जिसका नाम नरेंद्र है धोनी ने अपनी शुरुआती पढ़ाई डीएवी जवाहर विद्यालय श्यामली रांची से की थी महेंद्र सिंह धोनी आज भले ही सफल क्रिकेटर के रूप में जाने जाते हैं लेकिन बचपन में उन्हें बैडमिंटन और फुटबॉल का बहुत शौक था और उस समय तक क्रिकेट का उन्होंने ज्यादा कुछ सोचा नहीं था फुटबॉल की बात करें तो वह इस खेल में इतने अच्छे थे कि छोटी उम्र में ही उन्होंने डिस्ट्रिक्ट और क्लब लेवल पर मैच खेलना स्टार्ट कर दिया था वह अपनी फुटबॉल टीम में गोलकीपर थे उनके गोलकीपर के तौर पर अच्छे परफॉर्मेंस को देखते हुए फुटबॉल टीम के कोच ने उन्हें क्रिकेट में हाथ आजमाने के लिए भेजा हालांकि धोनी ने इससे पहले कभी क्रिकेट नहीं खेला था फिर भी उन्होंने अपनी विकेटकीपिंग से सब को बहुत प्रभावित किया और कमांडो क्रिकेट क्लब के रेगुलर विकेटकीपर बन गए।


धोनी क्रिकेट करियर


क्रिकेट क्लब में उनके अच्छे परफॉर्मेंस की वजह से उन्हें 1997-98 के दौरान vinoo mankad trophy अंडर सिक्सटीन चैंपियनशिप के लिए चुना गया जहां पर उन्होंने जबरदस्त परफॉर्म किया धोनी सचिन तेंदुलकर और एडम गिलक्रिस्ट के बहुत बड़े फैन थे वह अपने शुरुआती दिनों में लंबे लंबे बाल रखा करते थे क्योंकि उन्हें बॉलीवुड एक्टर जॉन अब्राहम बहुत पसंद थे और वह उन्हीं की तरह दिखना चाहते थे जॉन की तरह ही धोनी को तेज रफ्तार से बाइक और कार चलाने का शौक है और आज भी जब भी कभी धोनी को टाइम मिलता है तो वह अपनी फेवरेट बाइक से घूमने निकल जाते हैं लास्ट दिन तक उन्होंने एक साधारण तरीके से क्रिकेट खेला क्योंकि उस समय उन्हें क्रिकेट के साथ-साथ अपनी पढ़ाई पर भी ध्यान देना होता था और फिर 10th क्लास के बाद से वह क्रिकेट को ज्यादा ध्यान देने लगे थे लेकिन इसी बीच उन्होंने रेलवे में टीटी के लिए एंट्रेंस एग्जाम दिया उसके बाद वह उसमें सेलेक्ट हो गए इसके बाद धोनी साउथ रेलवे की खड़गपुर रेलवे स्टेशन पर 2001 से 2003 तक टीटी के रूप में काम किया महेंद्र सिंह धोनी के साथ काम करने वाले लोग बताते हैं वह एक नेक दिल इंसान थे और अपनी जिम्मेदारियों को बखूबी निभाया करते थे दोस्तों धोनी हमेशा उनकी शरारती हरकतों के लिए जाने जाते हैं।


एक बार की बात है जब धोनी रेलवे के क्वार्टर पर रह रहे थे तभी उन्होंने अपने दोस्त के साथ मिलकर खुद को सफेद कंबल में पूरी तरह ढक लिया और देर रात तक अपनी कॉलोनी में घूमते रहे वहां के पहरेदार और कुछ लोगों ने लंबे बाल और सफेद चादर मैं ढका हुआ उन्हें देखा और डर कर वहां से भाग निकले लोगों को यहां तक यकीन हो गया था कि कालोनी में कोई भूत घूम रहा है उनकी इस शरारत से लोग बहुत डर गए थे और अगले दिन याद एक बड़ी खबर बन गई थी।


वह रेलवे में नौकरी के साथ ही साथ 2000 से 2003 तक रणजी ट्रॉफी का हिस्सा बने रहे और फिर धीरे-धीरे उनका क्रिकेट की तरफ पागलपन इतना बढ़ गया कि उनका काम से मन हटने लगा और उन्होंने क्रिकेट में पूरी तरह से अपना करियर बनाने का सोच लिया।

अब बहुत से लोगों के मन में यह सवाल होता है कि वह नेशनल क्रिकेट टीम में कैसे सिलेक्ट हुए तो दोस्तों बता दूं BCCI की एक टीम होती है जो छोटे शहरों से सबसे अच्छे टैलेंट को खोजने का काम करती है और उसी टीम में से प्रकाश पोद्दार की नजर धोनी के खेल पर पड़ी और उन्होंने धोनी का अद्भुत खेल देखा फिर उन्होंने धोनी को नेशनल लेवल पर खेलने के लिए सिलेक्ट किया प्रकाश पोद्दार बंगाल टीम के पूर्व कप्तान रह चुके हैं।


महेंद्र सिंह धोनी को सबसे बड़ी कामयाबी तब मिली जब 2003 में उन्हें इंडिया ए टीम के लिए चुना गया ओर वह ट्राई सीरीज खेलने के लिए केन्या गए जहां पाकिस्तान की टीम भी आई हुई थी इस सीरीज में उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया जिसमें पाकिस्तान के 223 रनों का पीछा करते हुए उस मैच में उन्होंने अर्धशतक बनाया और भारतीय टीम को मैच जीतने में मदद की! अपने परफॉर्मेंस को मजबूत करते हुए धोनी ने इसी टूर्नामेंट में 120 और 119 रन बनाकर 2 शतक पूरे किए यहां पर धोनी ने कुल 7 मैचों में 362 रन बनाए।

तभी धोनी के शानदार परफॉर्मेंस पर उस समय के कैप्टन सौरव गांगुली का ध्यान गया और साथ ही साथ भारत टीम के कोच संदीप पाटिल ने विकेटकीपर और बल्लेबाज के तौर पर भारतीय क्रिकेट में जगह के लिए धोनी की सिफारिश की।


भारतीय टीम में उस समय पार्थिव पटेल और दिनेश कार्तिक जैसे विकेटकीपर का ऑप्शन था और यह दोनों ही टेस्ट अंडर-19 के कैप्टन भी रह चुके थे लेकिन धोनी ने तब तक अपने खेल के दम पर एक अद्भुत पहचान भारत ए टीम में बना चुके थे।

इसी वजह से उन्हें 2004 - 05 में बांग्लादेश दौरे के लिए वनडे टीम में चुन लिया गया धोनी की एकदिवसीय करियर की शुरुआत बेहद खराब रही और वह अपने पहले ही मैच में 0 रन पर आउट हो गए बांग्लादेश के खिलाफ उनका परफॉर्मेंस अच्छा ना होने के बावजूद भी वह पाकिस्तान के खिलाफ वनडे टीम के लिए चुने गए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में धोनी के बल्ले की गूंज तब सुनाई दी जब वह अपने पांचवें ही मैच में उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ ताबड़तोड़ शतक लगाकर भारत को जीत दिला दी उस मैच में धोनी ने 123 बॉल पर 148 रन की पारी खेली थी इसके बाद भी उन्होंने अपना शानदार परफॉर्मेंस जारी रखा और भारतीय टीम में अपनी मजबूत जगह बना ली।


2007 में जब राहुल द्रविड़ ने टेस्ट और वनडे कैप्टन सी से इस्तीफा दे दिया और सचिन तेंदुलकर को टीम का कैप्टन बनने के लिए कहा जाने लगा तो सचिन ने विनम्रता से मना कर दिया और धोनी को कैप्टन बनवाने के लिए कहा जिससे बोर्ड के सदस्य भी सहमत हो गए और धोनी इंटरनेशनल क्रिकेट के कैप्टन बने उसके बाद से धोनी ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और ऐसी कप्तानी की कि 2007 में पहला T20 वर्ल्ड कप भारत ने अपने नाम किया और फिर 2011 में वनडे इंटरनेशनल वर्ल्ड कप भी अपने नाम कर लिया।

भारतीय टीम को एक अच्छा कैप्टन के तौर पर कपिल देव अजहरुद्दीन और गांगुली के बाद अगर कोई मिला तो वह थे महेंद्र सिंह धोनी।


महेंद्र सिंह धोनी ने विवाह दिनांक 4 जुलाई 2010 को साक्षी से शादी की और 6 फरवरी 2015 को उनकी बेटी हुई जिसका नाम जीवा रखा गया है।


महेंद्र सिंह धोनी पुरस्कार


• धोनी को 2008 में आईसीसी वनडे प्लेयर ऑफ द ईयर का अवार्ड दिया गया धोनी पहले भारतीय खिलाड़ी थे जिन्हें यह सम्मान दिया गया।


• इसके अलावा धोनी को 2007 में राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया।


• धोनी को 2009 में पद्मश्री ओर 2018 में पद्म भूषण से भी सम्मानित किया गया है।


• धोनी की कप्तानी में भारत ने 28 साल बाद एकदिवसीय विश्व कप क्रिकेट में दोबारा जीत हासिल की।


महेंद्र सिंह धोनी रिटायरमेंट

30 दिसंबर 2014 को धोनी ने टेस्ट क्रिकेट से रिटायरमेंट का फैसला किया था उसके बाद 4 जनवरी 2014 को वनडे और टी20 की कप्तानी भी छोड़ दी लेकिन उन्होंने कहा कि वह एक विकेटकीपर बल्लेबाज के तौर पर खेलते रहेंगे धोनी की कप्तानी में टीम में कभी भी विवाद नहीं हुए क्योंकि वह अपनी शांत स्वभाव से टीम में एकता बनाए रखते हैं।

यह महान खिलाड़ी और बेस्ट कप्तान रहे महेंद्र सिंह धोनी ने साल 2020, 15 अगस्त के दिन अंतराष्ट्रीय क्रिकेट से भी सन्यास की घोषणा कर दी.


महेंद्र सिंह धोनी से जुड़ी रोचक जानकारी


• 2002 में जब महेंद्र सिंह धोनी भारतीय क्रिकेट टीम में जगह बनाने की कोशिश कर रहे थे तो उन्हें प्रियंका झा नाम की लड़की से प्यार हो गया था लेकिन उसी वर्ष एक सड़क दुर्घटना में प्रियंका झा की मृत्यु हो गई।


• 2006 में महिंद्र सिंह धोनी एमटीवी के यूथ आइकन बने।


• 2008-09 तक लगातार उन्होंने प्लेयर ऑफ द ईयर का पुरस्कार जीता।


• 2011 में उन्हें भारतीय सेना द्वारा लेफ्टिनेंट कर्नल के पद से सम्मानित किया गया।


• धोनी को हेलीकॉप्टर शॉट संतोष लाल से सीखाया था जो कि उनके बचपन के मित्र थे जिनका निधन जुलाई 2013 में हो गया।


• फोर्ब्स पत्रिका वर्ष 2012 में विश्व के सर्वाधिक कमाई करने वाले क्रिकेटर मैं धोनी का नाम तीसरे नंबर पर रखा गया इस सूची में उसैन बोल्ट का नाम भी उनसे पीछे रहा।


• धोनी रांची के एक होटल के मालिक हैं जिसका नाम माही रेसिडेंसी रखा गया है।


• उनके पसंदीदा खिलाड़ी क्रिस्टियानो रोनाल्डो राफेल नडाल है।


धोनी के मुख्य रिकॉर्ड


• एक कप्तान के रूप में सर्वाधिक T20 मैच अंतरराष्ट्रीय मैच जीते।


• अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कप्तान के रूप में सर्वाधिक शतक लगाए।


• सातवें पायदान पर रहते हुए एकदिवसीय मैच में कई शतक लगाए।


• अंतरराष्ट्रीय टेस्ट मैचों में वह पहले ऐसे भारतीय विकेटकीपर क्रिकेटर थे जिन्होंने 4000 रन बनाएं।


• भारतीय कप्तान द्वारा अंतर्राष्ट्रीय टेस्ट में सबसे ज्यादा स्कोर (224 रन)।


धोनी की प्रशंसा में कहे गए प्रसिद्ध कथन


• धोनी अगर मुझसे कहें कि तुम 24वीं मंज़िल से कूद जाओ तो में आसानी से ऐसा ही करूँगा - इशांत शर्मा


• आखिरी चीज़ जो में देखना चाहूंगा मरने से पहले वो है 2011 का वर्ल्डकप, फाइनल में धोनी द्वारा मारा गया छक्का - सुनील गावस्कर


• धोनी सबसे अच्छा कप्तान है जिसके अंडर मेने खेला है - सचिन तेंदुलकर


• धोनी मेरा हीरो है हम सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्रसहवाग के बारे में बहुत बातें करते हैं, लेकिन इस लड़के में भी उतना ही टेलेंट है जितना कि इस गेम में किसी पर के पास - कपिल देव


• धोनी के लिए हम अपना पूरा पैसा खर्च करने को तैयार हैं - रसैल (CSK Manager)


• इंडियंस अपने कैप्टन पर भरोसा रखो, उसे बड़ी ट्रॉफियां कितने की आदत है जब सबकुछ उसके खिलाफ हो - शोएब अख्तर


• मुझे नही लगता कि कोई धोनी की लीडरशिप पर सवाल उठा सकता है - विराट कोहली


• अगर लास्ट ओवर में 15 रन चाहिए तो प्रेशर बॉलर पर होता है, धोनी पर नही - इयान बिशप


• प्रेशर की स्थिति में छक्का चाहिए, एम.एस धोनी को बुलाइये - रमीज़ राजा


धोनी से संबंधित कुछ सवाल व उनके जवाब


• mahendra singh dhoni ka dusra naam kya hai


➡ धोनी का दूसरा नाम एमएस, माही, एमएसडी है।


• kya dhoni ipl 2021 khelega


➡2020 में टॉस के दौरान जब डैनी मॉरिसन ने एमएस धौनी से पूछा कि क्या आपका ये आखिरी आइपीएल मैच सीएसके के लिए है? इस सवाल के जवाब में धौनी ने कहा, "नहीं, बिल्कुल नहीं।" इसी बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि एमएस आइपीएल 2021 में भी चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेलते रहेंगे। धौनी से पहले सीएसके के सीईओ ने भी इसी बात की पुष्टि की थी कि धौनी अगले साल भी चेन्नई सुपर किंग्स के लिए आइपीएल खेलेंगे।


• ipl 2008 me dhoni kitne me beche the?


➡ महेंद्र सिंह धोनी आईपीएल 2008 के ऑक्शन में बिकने वाले सबसे महंगे खिलाड़ी थे। उस साल उन्हें चेन्नई सुपर किंग्स ने 6 करोड़ रुपए में खरीदा था और अपना कप्तान भी नियुक्त किया था।


• ms dhoni ipl trofi


➡ धोनी ने तीन बार आईपीएल ट्रॉफी जीती है।


• 2015 क्रिकेट विश्वकप के सेमीफाइनल मैच में ऑस्ट्रेलिया के हाथों मिली हार के बाद अमिताभ ठाकुर ने तत्कालीन कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को 1000 रुपए का चेक क्यों भेजा था?


➡ 2015 क्रिकेट विश्वकप के सेमीफाइनल मैच में ऑस्ट्रेलिया के हाथों मिली हार के बाद अमिताभ ठाकुर ने तत्कालीन कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को 1000 रुपए का चेक भेजा था और एक नोट भी भेजा जिस पर लिखा था- मैच हारने के लिए धन्यवाद।


• क्या महेंद्र सिंह धोनी ने बुद्धिस्ट या बौद्ध धर्म अपना लिया है?


➡ सोशल मीडिया पर पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की एक फोटो वायरल हो रही है। इसमें धोनी बौद्ध भिक्षु के लिबास में दिख रहे हैं, फोटो शेयर कर दावा किया जा रहा है कि धोनी ने बौद्ध धर्म अपना लिया है। जबकि यह सब झूठ है, एमएस धोनी का ये लुक वीवो आईपीएल की एक ऐड सीरीज का हिस्सा है। फोटो को लेकर किया जा रहा दावा झूठा है।


Post a Comment

0 Comments