सिल्वेस्टर स्टेलोन की कहानी - Sylvester stallone motivational story in hindi

Sylvester stallone motivational story in hindi



यह कहानी शुरू होती है 1970 से और इस कहानी का हीरो अमेरिका में रहता था, वह शिद्दत से तो एक्टर बनना चाहता था लेकिन चीजें उस तरह से नहीं चल रही थी जैसा वह चाहता था वह बिल्कुल कंगाल था, अपने खर्चे उठा नहीं सकता था बीवी के साथ उसके हमेशा झगड़े होते रहते थे क्योंकि उसकी बीवी चाहती थी वह कोई जॉब करे लेकिन वह हीरो कोई नार्मल जॉब नहीं करना चाहता था क्योंकि वह जानता था कि अगर उसे एक बार रेगुलर सैलरी मिलना शुरू हो गई तो वह अपना एक्टर बनने का सपना भूल जाएगा और वह एक आम इंसान की तरह जीने लग जाएगा जिसे वह बिल्कुल पसंद नहीं था उसका मानना था कि वह भले ही सड़क पर रह लेगा लेकिन बाकी लोगों की तरह सैलरी का गुलाम नहीं बनेगा।

वह अपने एक्टिंग करियर बनाने की आखिरी कोशिश करने अपने सबसे अच्छे दोस्त अपने एक कुत्ते के साथ ट्रेन से लॉस एंजेलिस चला गया क्योंकि लॉस एंजेलिस में ही हॉलीवुड के सबसे बड़े स्टूडियो हैं इसलिए वह वहां अलग-अलग स्टूडियो में पैदल जा कर 1 दिन में कई ऑडिशंस के रोल दे सकता था। क्योंकि वह इतने सारे स्टूडियोज में जाने के लिए बार-बार टैक्सी नहीं कर सकता था। लेकिन वह बहुत से स्टूडियो से रिजेक्ट होता था कोई उसे एक्टर बनाने के लिए तैयार नहीं था उसके लिए यह काम इसलिए भी मुश्किल हो गया था क्योंकि उसके ठोड़ी का बायां हिस्सा पैरालाइज्ड था क्योंकि जब वह बोलता था तो उसके डायलॉग्स बिल्कुल साफ समझ में नहीं आते थे उसके पास जो भी थोड़ा बहुत पैसा था वह खत्म होते जा रहा था वह रोज एक लाइब्रेरी में जाता था क्योंकि लाइब्रेरी में चारों तरफ किताबें होती थी तो एक दिन उसे किताब पढ़ते समय उसे एक आईडिया आया कि वह मूवीस की स्टोरी लिखेगा वह स्टोरी लिखने में बहुत खो जाता था वह एक के बाद एक स्टोरी लिखते ही जाता था और उन स्टोरी को स्टूडियोज को ऑफर करता था लेकिन फिर से वह बहुत बार रिजेक्ट हो जाता था वह हजार बार से भी ज्यादा रिजेक्ट हो चुका था अब उसके पास अपने कुत्ते को खिलाने के लिए भी पैसे नहीं थे तो वह एक बार एक शराब की दुकान में गया वहां उसने एक अनजान आदमी को $25 में अपना कुत्ता अपना दोस्त बेच दिया और यह उसकी जिंदगी का सबसे बुरा समय था उसे भी यकीन नहीं हो रहा था कि उसने यह क्या कर दिया उसे बहुत दुख हो रहा था तो इस दुख को कम करने के लिए उसने शराब पीने का सोचा तो उसके पास जो आखरी पैसा बचा था उसे लेकर वो एक बार में चला गया शराब पीते हुए उसने टीवी पर देखा कि एक बॉक्सिंग मैच चल रहा था यह मैच था मोहम्मद अली वर्सेस चक वेपनर का चक वेपनर को बॉक्सिंग कम्युनिटी और उनकी फैमिली अनाड़ी बॉक्सर मानती थी लोगों को यह लग रहा था कि यह तो महान बॉक्सर मोहम्मद अली के लिए आसान शिकार होंगे अली वेपनर को मारते हैं लेकिन वह वापस खड़े हो जाते हैं एक बार तो उन्होंने अली को गिरा भी दिया अली उन्हें नॉकआउट नहीं कर सके वह पूरे 15 राउंड्स तक अली से लड़े लेकिन पॉइंट्स के बेसिस पर वह हार गए लेकिन इतिहास के सबसे महान बॉक्सर के सामने उन्होंने हार नहीं मानी इन 15 राउंड से यह साबित हो गया कि चक वेपनर एक अनाड़ी खिलाड़ी नहीं थे बल्कि वह तो एक खतरनाक बॉक्सर थे।

➡ Motivational quotes in hindi on success for students

यह मैच देखकर कहानी का हीरो वहां से उठता है और जाता है सीधा अपने फ्लैट में जहां पर वहां रहता था और एक शानदार कहानी लिखना शुरु कर देता है यह कहानी होती है एक वर्किंग क्लास वाइल्ड लड़के की जो सभी मुश्किलों के खिलाफ जाकर बॉक्सिंग का वर्ल्ड हैवीवेट टाइटल जीतता है और वह हीरो यह कहानी सारे स्टूडियोज को भेजता है लेकिन कोई इस स्टोरी पर फिल्म बनाने को तैयार नहीं था।

एक दिन जब वह एक्टर के रोल के लिए ऑडिशन दे रहा था तो वहां से रिजेक्ट होने के बाद वह स्टूडियो से बाहर निकल रहा था तभी उसे याद आया कि उसके बैग में वही स्क्रिप्ट अभी मौजूद है। उसने दूर से ही प्रोड्यूसर से चिल्ला कर कहा कि उसके पास एक अमेजिंग स्टोरी है जो उन्हें जरूर पढ़ना चाहिए फिर बोल प्रोड्यूसर ने उससे वह स्क्रिप्ट ले ली और प्रॉमिस भी किया कि वह उसे जरूर पढेगा तो 2 दिन बाद उसे उस स्टूडियो से कॉल आता है कि वह उस उस स्टोरी पर फिल्म बनाना चाहते हैं और उसे वह इस स्क्रिप्ट की ₹365000 डॉलर देना चाहते हैं लेकिन उस हीरो ने इस ऑफर को रिजेक्ट कर दिया क्योंकि प्रोड्यूसर उसे इस फिल्म में लीड रोल नहीं दे रहे थे तो कई घंटों के भाव ताव के बाद प्रड्यूसर उसे लीड रोल देने के लिए तैयार हो जाते हैं उनकी डील यह हुई थी कि वह एक्टिंग के पैसे नहीं लेगा सिर्फ स्क्रिप्ट के पैसे लेगा और फिल्म भी वही बनाएगा। इसके लिए स्टूडियो ने उसे एक छोटा सा बजट दे दिया एक फेमस एक्टर बनने के चांस के लिए उसने एक्टिंग की फीस नहीं ली यह एक बड़ा रिस्क उसने लिया था क्योंकि उसे पता था कि अगर वह इस फिल्म में हीरो नहीं बना और यह फिल्म चल गई तो उसे उसका जिंदगी भर अफसोस रहेगा।

स्टूडियो से डील करने के बाद वह सबसे पहले जाता है वही शराब की दुकान पर जहाँ पर उसने अनजान आदमी को अपना कुत्ता बेच दिया था वह वहां 2 दिन तक उस आदमी का इंतजार करता रहा 2 दिन बाद वह अनजान आदमी उस कुत्ते के साथ वहां से गुजरता है वह उस आदमी से कहता है कि अब मेरे पास पैसा है मुझे अपना कुत्ता वापस चाहिए लेकिन वह आदमी उसे कुत्ता वापस देने के लिए तैयार नहीं होता है तो उस वह $2000 का ऑफर देता है और वह जो फिल्म बना रहा था उसमें छोटा सा रोल भी देता है वह उस अनजान आदमी को फिल्म की फाइनल फाइट में रेफरी का रोल देता है तो वह अनजान आदमी मान जाता है और उसे कुत्ता वापस कर देता है।

अब वह फिल्म बनाना शुरू कर देता है पैसा बचाने के लिए वह अपने फैमिली मेंबर्स और दोस्तों से कुछ रोल्स करवाता है हैंडहेल्ड कैमरा से उस फिल्म की पूरी शूटिंग होती है और जैसे तैसे फिल्म बनकर तैयार हो जाती है।

फिल्म रिलीज होने से पहले हॉलीवुड में डायरेक्टर्स के लिए एक थिएटर मैं उसकी स्क्रीनिंग होती है और वहां वह अपनी मां के साथ बैठा था थिएटर में करीब 900 लोग थे और सारे ही फिल्म इंडस्ट्री से ताल्लुक रखते थे उसे अजीब लग रहा था फिल्म के जिस सीन पर हंसना चाहिए था कोई नहीं हंस रहा था और फाइट सीन पर भी कोई भी किसी भी तरह का कोई रिएक्शन नहीं दे रहा था एक के बाद एक लोग थिएटर से निकलते गए और आखरी में बस हीरो और उसकी मां ही रह गए उसकी मां ने उससे कहा कि वह अभी वापस आ सकता है एक अच्छी सी जॉब ढूंढ ले और वह करें। वह अपनी मां का हाथ पकड़कर उन्हें सहारा देते हुए थिएटर की सीढ़ियां उतर कर लॉबी में आता है और वह देखता है सॉरी ऑडियंस उसका इंतजार कर रही थी और वह सब जोर-जोर से तालियां बजाना शुरू कर देते हैं।

Sylvester stallone रोने लगते हैं यह खुशी के आंसू थे आखिरकार उनकी मेहनत ने रंग ला ही दिया रॉकी फिल्म को नो ऑस्कर नॉमिनेशन मिलते हैं और 3 वह जीतते भी है जो फिल्म हैंडहेल्ड कैमरा से छोटे से बजट में बनी थी वह करीब 20 करोड़ डॉलर का बिजनेस करती है इस तरह से Sylvester stallone की कहानी फेमस हुई और इस तरह से उनका करियर शुरू हुआ।

➡ माइकल फेल्प्स के अनमोल विचार - Michael Phelps quotes in hindi

➡ एलन मस्क के 45+ अनमोल कथन ओर विचार - Elon musk quotes in hindi

Post a Comment

2 Comments