एलन मस्क का डेली रूटीन - Elon musk morning schedule and daily routine in hindi

एलन मस्क का डेली रूटीन - Elon musk daily routine in hindi


एलन मस्क का डेली रूटीन - Elon musk morning schedule and daily routine in hindi



एलन मस्क का डेली रूटीन - Elon musk morning schedule and daily routine in hindi /जब एस्ट्रोफिजिसिस्ट (Astrophysicist) niel degrasse से पूछा गया की दुनिया में सबसे ज्यादा इंपोर्टेंट इंसान कौन है? क्या वह अमेजॉन के फाउंडर जैफ बेजॉस है, या एप्पल के फाउंडर स्टीव जॉब्स, या फेसबुक के फाउंडर मार्क जकरबर्ग है या फिर टेस्ला और स्पेसएक्स के फाउंडर  एलन मस्क हैं, तो उन्होंने कहा बिल्कुल एलन मस्क ही है। उन्होंने कहा एलन मस्क ही दुनिया के सबसे इंपोर्टेंट इंसान है क्योंकि वह कोई वेबसाइट या कोई ऐप या कोई सॉफ्टवेयर नहीं बना रहे बल्कि हमारी लाइफ को कंफर्टेबल बना रहे हैं ऐसा काम कर रहे हैं जो इंसानियत का भविष्य बनाएगा और क्योंकि एलन मस्क जोकि बहुत इंपोर्टेंट इंसान है तो अधिकतम लोग यह जानना चाहते हैं कि वह इंसान जिसकी बहुत ही मुश्किल फील्ड में कंपनियां हैं जैसे tesla, spacex, neuralink को कैसे मैनेज करता है?
हमने उनके इंटरव्यू के आधार पर यह जाना है कि वह अपने मॉर्निंग रूटीन और डेली रूटीन को कैसे मैनेज करते हैं।

एलन मस्क KARMA रूल को फॉलो करते हैं, जहां पर एक साधारण इंसान एक हफ्ते में 48 घंटे काम करता है यानी संडे को अगर हम ऑफ माने तो हम बाकी 6 दिन काम करते हैं, लेकिन एलन मस्क हफ्ते में लगभग 100 घंटे काम करते हैं कोई संडे नहीं, कोई छुट्टी नहीं, वह हमेशा काम करते रहते हैं।  एलन मस्क रात में करीब 1:00 बजे सोते हैं वह सुबह 7:00 बजे उठ जाते हैं। वह अपना फोन उठाते हैं और पहले आधे घंटे अपने इंपॉर्टेंट इमेल्स चैक करते हैं ओर उनका रिप्लाई करते हैं उसके बाद वह शावर लेते हैं और थोड़ी देर में अपने काम के लिए निकल जाते हैं, मतलब एलन मस्क ब्रेकफास्ट भी नहीं करते हैं, इसके बाद वह दिन के हिसाब से या तो अपनी कंपनी टेस्ला या फिर spesex में जाते हैं और वहां पर अपना 80% परसेंट टाइम इंजीनियरिंग और डिजाइन में गुजारते हैं, लंच टाइम में भी एलन मस्क कोशिश करते हैं कि वह मीटिंग टाइम में ही अपना लंच कंप्लीट कर ले ताकि
उनका वो टाइम भी सेव हो जाए और दोबारा से रात के 1:00 बजे तक काम कर सकें। और यह रूटीन साल के 365 दिन चलता रहता है, बहुत लोगों की नजरों में यह बहुत ही मुश्किल और अनहेल्थी लाइफस्टाइल है लेकिन इसी रूटीन ने एलन मस्क को द एलन मस्क बनाया है, और एलन मस्क यह कोशिश करते हैं कि वह खुद को फिट रखने के लिए हफ्ते में कम से कम 2 बार जिम जरूर जाएं।

यह भी पढें➡ एलन मस्क के 45+ अनमोल कथन ओर विचार - Elon musk quotes in hindi

इंपोर्टेंट सवाल यह उठता है कि शायद हम लोग एलन मस्क जितनी मेहनत ना कर पाएं, 4 हफ्ते में 100 घंटे अपने काम को ना दे पाएं, लेकिन 50 घंटे तो दे ही सकते हैं लेकिन कई लोग इस तरह से सवाल पूछते हैं एलन हर हफ्ते 100 घंटे लेकर दो कंपनी चला सकते हैं तो हम 50 घंटे देकर एक मल्टी billion-dollar कंपनी क्यों नहीं चला सकते, बिल्कुल एलन मस्क हार्ड वर्क जरूर करते हैं, और उनके काम करने का एक रहस्यमई तरीका यह है जिसे कहते हैं - Time blocking



Deep work ओर So good they can't ignore you बुक्स के ऑथर cal newport कहते हैं की जितना काम आप 1 हफ्ते में प्लानिंग के साथ 40 घंटे में कर सकते हैं, उतना ही काम करने में आपको 60 से ज्यादा घंटे लग जाएंगे अगर आप काम प्लानिंग के साथ नहीं करते हैं तो इसीलिए Time blocking बहुत इंपोर्टेंट है, Time blocking एक बहुत ही प्रभावी टाइम मैनेजमेंट तरीका है, जिसमें हम अपने दिन को ब्लॉक्स में डिवाइड करते हैं और हर ब्लॉक का सिर्फ एक ही काम है कि हम किसी भी काम को उस वक्त खत्म करेंगे जो हमने तय किया था, और उस वक्त कोई और काम नहीं करेंगे।
अधिकतर लोग काम करते करते कभी ईमेल्स पढ़ने लग जाएंगे फिर बीच में मीटिंग करने लग जाएंगे जबकि एक इंसान जो Time blocking करता है वह अपने काम को लगातार करते रहता है जब तक कि उसका काम अपने फिक्स किए गए टाइम पर खत्म ना हो जाए।

और एक जरूरी बात अगर हम देखें तो जो Time blocking का इस्तेमाल करते हैं जैसे एलन मस्क उनके दिन के अंत में एक जरूरी चीज जो है, और वह है Planing for next day जिसे हमने ब्लू कलर से दिखाया है

दरअसल Time blocking के चार प्रकार होते हैं

Time blocking
Task batching
Day theming
Time boxing

तो चलिए इन्हें और आसान शब्दों में समझते हैं Time blocking होता है कि हमें दिन के कुछ घंटे पहले से डिसाइड करने होते हैं कि उस वक्त हमें कौन सा एक निर्धारित कार्य पूरा करना है, लेकिन हमने यह नहीं डिसाइड करना है कि हमने उस कार्य में हमारे कार्य की मात्रा कितनी होनी चाहिए उदाहरण के लिए अगर हम अपने से कहें कि मैं हर रोज 9:00 से 11:00 बजे तक मैथ्स पढूंगा, तो इसका मतलब है कि हमने यह नहीं कहा है कि इन 2 घंटे में, मैं मैथ्स का कोई एक टॉपिक भी खत्म करूंगा।

Time boxing - इसमें हम खुद से यह भी कहते हैं कि, एक निर्धारित समय में हम अपना टास्क पूरा करें जैसे की हम बोल सकते हैं कि मैं 9:00 से 11:00 तक 1000 words का एक content लिखूंगा, अगर हम ध्यान दें तो इसमें दोनों तरह की बातें होंगी, टाइम भी होगा और कार्य करने की मात्रा की होगी कि कितना कार्य करना है।

➡ Motivational quotes in hindi on success for students

Day theming - इसमें हम हफ्ते के पूरे के पूरे दिन डिसाइड करते हैं कि हम क्या करेंगे, जैसे कि आप कह सकते हैं, सोमवार और मंगलवार को मैं अपने बिजनेस आइडिया पर काम करूंगा या फिर आप एक स्टूडेंट है तो इन 2 दिनों में आप अपने कमजोर सब्जेक्ट को पढ़ सकते हैं, और बुधवार और गुरुवार को, जो काम आपने पिछले 2 दिन पहले किया था उन्हीं को फिर से एक बार और अच्छे से देख सकते हैं, वही काम को अच्छे से एनालाइज कर सकते हैं।
एलन मस्क अपनी कंपनियों के साथ Day theming टेक्निक का इस्तेमाल करते हैं वह सोमवार और बुधवार को अपनी कंपनी टेस्ला में जाते हैं, और मंगलवार और गुरुवार को अपनी कंपनी स्पेसएक्स में जाते हैं।

Task batching - जिसमें हम एक ही जैसी प्रकृति के काम को इकट्ठा कर लेते हैं, जिससे कि हमें अपने कार्य को बार-बार बदलने की जरूरत ना पड़े और हमारा समय बचे और कार्य करने की क्षमता भी बढ़ जाए, उदाहरण के लिए जैसे मैं अपने ईमेल्स और व्हाट्सएप मैसेज एक साथ 3:00 बजे उनका रिप्लाई करूंगा और वह भी दिन में बस एक बार।

तो दोस्तों इन सब बातों से हमें यह तो पता चलता है कि सफलता का कोई एक रास्ता नहीं है कई रास्ते हैं और कई विकल्प है यह हमें देखना है कि हमें कौन सा विकल्प चुनना है अपने समय के हिसाब से।

➡ बिल गेट्स का डेली रूटीन - Bill gates daily routine in hindi

➡ सफल लोगों की सुबह की 8 आदतें - morning habits of successful person in hindi

➡ ब्रम्हा मुहूर्त में उठने के फायदे - brahma muhurat

Post a Comment

0 Comments